डॉ भीमराव अंबेडकर ने की थी दूसरी शादी, क्यों दूसरी पत्नी से नाराज थे अंबेडकर के करीबी

Politics

संविधान के जनक कहे जाने वाले बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की 14 अप्रैल को जयंती है. दलित, शोषित वर्ग के उत्थान के लिए अंबेडकर के योगदान को ये देश कभी नहीं भूला सकता. यही वजह है कि देश की हर पार्टी भीमराव आंबेडकर की विरासत को हथियाने के जुगत में भिड़ी रहती है. बाबा साहेब की निजी जिंदगी के कुछ हिस्से हैं जिनके बारे में शायद लोगों को कम ही पता है. जैसे उन्होंने दो शादियां की थी. और उनकी दूसरी पत्नी पर कुछ आरोप भी लगाए गए थे.आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ खास बातें

अंबेडकर के साथ उनकी पहली पत्नी (फोटो-BuddhaAmbedkar)

भीमराव अंबेडकर की पहली शादी 15 साल की उम्र में

अंबेडकर की पहली शादी साल 1906 में रमाबाई से हुई थी. उस वक्त उनकी उम्र महज 15 साल थी रमाबाई उनसे भी छोटी थी. अंबेडकर शादी के बाद स्कॉलरशिप लेकर विदेश पढ़ने चले गए. रमाबाई-भीमराव के 5 बच्चे हुए. उनमें से बाद यशंवतराव ने रिपब्लिक पार्टी बनाई. ध्यान देने वाली बात ये है कि यशवंतराव सिर्फ मैट्रिक तक की पढ़ाई ही कर सके थे. साल 1935 में लंबी बीमारी के बाद रमाबाई अंबेडकर का निधन हो गया.

1948 में हुई दूसरी शादी

दूसरी पत्नी के साथ बाबा साहेब (फोटो-पत्रिका)

बाबा साहेब अपने सामाजिक कार्यो और दलितों के उत्थान में लगातार लगे रहते थे. ऐसे में 13 साल तक उन्होंने शादी के बारे में कुछ भी नहीं सोचा. 1947-48 के आसपास उनकी सेहत में अचानक से गिरावट आई. इस वक्त डॉक्टर सविता ने उनका काफी ध्यान रखा. दोनों इलाज के दौरान ही करीब आए और 15 अप्रैल 1948 को बाबा साहेब ने सविता से दूसरी शादी कर ली.

फोटो- InMemory

सविता कुलीन ब्राह्मण परिवार से ताल्लुक रखती थी ऐसे में ब्राह्मण और दलित समुदाय दोनों में इस शादी का जबरदस्त विरोध हुआ. रिपोर्ट्स के मुताबिक, बाबा साहेब के निधन के बाद उनके करीबियों ने सविता के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया. हालांकि, वो कुछ समय तक दलित राजनीति में भी रही. साल 2003 में 94 साल की उम्र में उनका निधन हो गया.

Comments

comments

Leave a Reply