इंदिरा नूई

दुनिया की सबसे ताकतवर महिलाओं में शामिल हैं भारत की इंदिरा नूई, जानिए खास बातें

Welldone, WomanHood

करीब 24 साल तक पेप्सिको को चलाने वाली और 12 साल तक इस कंपनी की CEO रही इंदिरा नूई की जिंदगी किसी भी भारतीय महिला के लिए मिसाल है. नू का जन्म 28 अक्टूबर 1955 को चेन्नई में हुआ था. साल 2009 में उन्हें फोर्ब्स की लिस्ट में दुनिया की तीसरी सबसे ताकतवर महिला बताया गया, इतना ही नहीं अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जब ट्रंप ने जीत हासिल की थी तो नूई को ट्रंप प्रशासन ने विशेषज्ञों की टीम में शामिल किया था.

फोटो- सोशल मीडिया

इंदिरा नूई ने भारत से शुरू किया करियर, अमेरिका में शिखर पर पहुंचा

इंदिरा ने चेन्नई में अपनी शुरुआती शिक्षा हासिल की. इसके बाद साइंस में ग्रेजुएशन किया और IIM कोलकाता में एडमिशन हासिल किया. जाहिर है IIM से पढ़ाई के बाद करियर बनाने की राह में कोई रोड़ा नहीं आता. उन्होंने अपना करियर शुरू कर दिया था. लेकिन कुछ साल के काम के बाद वो फिर पढ़ाई की तरफ लौट गईं और अमेरिका की एक यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट की डिग्री हासिल की.

साल 1994 में ज्वाइन किया पेप्सिको

इंदिरा नूई की जो खास पहचान है वो कहीं न कहीं पेप्सिको से जुड़ी हुई है. उन्होंने ये कंपनी साल 1994 में ज्वाइन की. महज 10 साल बाद ही उन्हें कंपनी का CFO यानी मुख्य वित्तीय अधिकारी बना दिया गया और इसके 2 साल बाद वो कंपनी की CEO बनीं. 3 अक्टूबर 2018 को नूई ने पेप्सिको कंपनी से बतौर सीईओ इस्तीफा दे दिया. इंदिरा इस कंपनी का नेतृत्व करने वाली पहली महिला हैं और पहली विदेशी भी.

कई साल फोर्ब्स की लिस्ट में शामिल रहीं

इंदिरा नूई साल 2006 के बाद से ही कई साल तक फोर्ब्स की लिस्ट में शामिल रहीं. साल 2007 में उन्हें सरकार की तरफ से पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. इंदिरा को म्यूजिक का बेहद शौक है. उनकी बहन को साल 2001 में ग्रैमी अवॉर्ड के लिए नॉमिनेशन भी मिल चुका है.

Comments

comments

Leave a Reply