Jammu-Kashmir: वादी की एकलौती ‘बैटवुमन’ हैं रिफत मसूदी.. ऐसे बनाती हैं बल्ला!

WomanHood

कश्मीर की रिफत मसूदी अपनी बैट से हौसलों की उड़ान भर रही हैं. नरवर इलाके में क्रिकेट बैट बनाने वाली पहली महिला हैं रिफत. सन् 1999 से शुरू हुआ ये सफर आज आसमान छू रहा है. इनकी कहानी की शुरुआत तब हुई जब अटल बिहारी वाजपेयी बस से पाकिस्तान गए थे.

Credit- TopYaps

इकनॉमिक टाइम्स के अनुसार रिफत ने कहा, “अटल बिहारी वाजपेयी के कश्मीर में शांति लाने के प्रयास के कारण कश्मीर में शांति का माहौल शुरू हुआ. देशभर के लोग कश्मीरी सामानों में दिलचस्पी लेने लगे.” रिफत के ससुर ने इस बिजनेस की शुरुआत की थी. बैट बनाने के लिए वो विलो का इस्तेमाल करते थे. सन् 1990 में विद्रोह के कारण बिजनेस को नुकसान पहुंचने लगा. उनकी जगह जालंधर के बैट निर्माताओं ने ले ली. 21 साल पहले 1999 में रिफत ने फिर से बिजनेस शुरू किया.

रिफत ने खरीददारों से संपर्क किया जिन्हें कश्मीरी बैट्स में दिलचस्पी थी. कश्मीर में बिजनेस करना आसान नहीं है खासकर महिलाओं के लिए. रिफत ने जब इसकी शुरूआत की तब उन्हें बहुत से विरोध का सामना करना पड़ा. लेकिन उनके पति ने उनका साथ नहीं छोड़ा. अब वो बच्चों को फुटबॉल की कोचिंग भी देते हैं. रिफत का सपना है कि इंडियन टीम भी उनके बैट से खेले.

Comments

comments

Leave a Reply