स्टैच्यू ऑफ यूनिटी

‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ की खासियत क्या है? आखिर क्यों आदिवासी इस स्टैच्यू का भारी विरोध कर रहे हैं?

Politics, WakeUp

सरदार वल्लभभाई पटेल की इस प्रतिमा को स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी की तर्ज पर स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का नाम दिया गया है. अत्यंत भव्य और सुप्रचारित इस प्रोजेक्ट का काम साल 2014 से चल रहा था. 42 महीनों की डेडलाइन रखी गई थी, जो अब पूरी हो चुकी है. प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के अलग-अलग राज्यों में तो इस मूर्ति का जिक्र किया ही है जापान में भी इसकी तारीफ कर आए हैं. लेकिन इन सबके बीच सोचने समझने की बात ये है कि आखिर आदिवासी संगठन के लोग इस प्रोजेक्ट का विरोध क्यों कर रहे हैं.

Comments

comments

Leave a Reply