तीन तलाक और हलाला का सितम: पहले ससुर और अब देवर से की निकाह हलाला करने की मांग!

Crime, People

उत्तर प्रदेश के बरेली में निकाह हलाला और तीन तलाक से जुड़ा चौैंकाने वाला मामला सामने आया है. मंगलवार को फैमिली कोर्ट में Maintenance केस की सुनवाई के दौरान इसका पता चला. महिला ने अपने पति के खिलाफ ये याचिका दायर की थी कि साल 2017 में उसके पति ने उसे तीन तलाक दिया और फिर उससे अपने छोटे भाई के साथ हलाला करने की जबरदस्ती कर रहा है.

नशीला पदार्थ पिलाकर ससुर के साथ करवाया हलाला

इस महिला की बहन ने दायर किए गए एफिडेविट में उसकी आपबीति का जिक्र किया है. एफिडेविट के अनुसार महिला की शादी 2009 में उसका निकाह किया गया था. शादी के दो साल तक सब ठीक रहा लेकिन बाद में बात बिगड़ने लगी. उसके पति और ससुरालवालों ने महिला को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया क्योंकि वो बच्चे को पैदा नहीं कर सकी थी. कई-कई दिनों तक उसको भूखा रखा जाता था और गंदी-गंदी बातें सुनाई जाती थीं. उसका पति उसके साथ यौन शोषण करता था. पहली बार उसके पति ने महिला को दिसंबर 2011 में तलाक दिया था. महिला के माता-पिता ने जब उसके पति के सामने हाथ जोड़े तो उसके पति ने अपने पिता के साथ उसका ‘निकाह हलाला’ करने की मांग कर दी. जब महिला नहीं मानी तो जबरदस्ती नशीला पदार्थ पिलाकर उसका निकाह उसके ससुर के साथ करवाया गया.

10 दिन तक उसका ससुर उसके साथ रेप करता रहा और अंत में तीन तलाक दे दिया ताकि वो अपने पति से फिर शादी कर सके. लेकिन जनवरी 2017 में फिर से उसके पति ने महिला को तीन तलाक दिया और इस बार अपने छोटे भाई से हलाला करवाने की मांग की. इस बार महिला और उसका परिवार फैमिली कोर्ट में गया और न्याय की मांग की.

महिला के पति के खिलाफ सेक्शन 498A (दहेज), 377 (अप्राकृतिक यौन शोषण) और अन्य धाराओं के तहत FIR दर्ज की है.

क्या है निकाह हलाला?

इस्लाम में शरिया के मुताबिक अगर एक पुरुष ने अपनी पत्नी को तलाक दे दिया है तो वो उस औरत को दोबारा तभी अपनी पत्नी स्वीकार सकता है जब तक वो किसी और से निकाह ना करे. लेकिन अगर ऐसा किसी साजिश के तहत या कोई प्लान बनाकर किया गया हो तो उसे इस्लाम में गुनाह माना जाता है.

Source- The Times Of India

Comments

comments

Leave a Reply