कुप्रथा: भारत में आज भी यहां महीने, साल भर के लिए किराये पर मिलती है पत्नी

Crime

भारत जैसे विविधताओं से भरे देश में यूं तो कई प्रथाएं प्रचलित हैं, जिनमें से कुछ अच्छी हैं तो कुछ बुरी हैं। बावजूद कड़े विरोध के कई कुप्रथाएं आज भी बदस्तूर जारी है। आज हम आपको एक ऐसी कुप्रथा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे।

हर साल लगती है मंडी
देश में एक राज्य ऐसा भी है, जहां हर साल एक मंडी लगती है। इस मंडी में हर साल लड़कियों की एक साल के लिए अपनी पत्नी बनाने के लिए खरीद-फरोख्त होती है। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि लड़कियों की ये खरीद-फरोख्त उनके घरवालों की मर्जी से होती है।

लड़कियों को एक साल के लिए किराए पर देने की प्रथा
बता दें कि मध्य प्रदेश, जहां हर साल शिवपुरी नाम की जगह पर एक मंडी लगती है। यहां ‘धड़ीचा प्रथा’ काफी प्रचलित है, इस प्रथा के तहत लड़कियों को एक साल के लिए किराए पर देने की प्रथा है। यहां कोई भी व्यक्ति 15,000 से लेकर 25 हजार तक में लड़कियों को एक साल के लिए अपनी बीवी बनाकर रख सकता है।

1 साल से ज्यादा समय तक के लिए भी रख सकते हैं
आपको हैरानी होगी कि इस प्रथा में महिलाओं के घरवाले अपनी खुशी से साल भर के लिए किसी अन्य पुरुष को अपनी लड़की को किराए पर दे देते हैं और अपनी लड़की की शादी उस शख्स से करा देते हैं। वो व्यक्ति अगर चाहे तो उस लड़की को 1 साल से ज्यादा समय तक के लिए भी रख सकता है।

सौदा पूरी कागजी कार्रवाई के बाद किया जाता है
आपको जानकर हैरानी होगी कि ये सौदा पूरी कागजी कार्रवाई के बाद किया जाता है। उसके लिए 10 रुपए से लेकर 100 रुपए तक के स्टांप पेपर होते हैं जिस पर सौदेबाजी की पूरी लिखा-पढ़ी की जाती है। हैरानी की बात है कि मध्य प्रदेश में ये किराये पर बीवी की कुप्रथा आज से नहीं, बल्कि पिछले कई दशकों से लगातार यूं हीं बदस्तूर चली आ रही है, लेकिन आज तक किसी ने इस कुप्रथा के खिलाफ आवाज उठानी जरूरी नहीं समझी।

Comments

comments

Leave a Reply